This time IPL 2023 will be played in a different way, many rules and regulations have changed, know the complete rules

मुंबई: इंडियन प्रीमियर लीग 2023 (IPL 2023) का आगाज 31 मार्च से होने वाला है। आईपीएल (IPL 16) के 16वें सीजन में कई बड़े बदलाव किए गए है। कुछ पुराने नियमों को बदलाव करते हुए नए रूल्स को जोड़े गए हैं। वीमेंस प्रीमियर लीग (WPL 2023) की तरह इस साल आईपीएल में भी टीमें वाइड और नो बॉल जैसी अन्य चीजों के लिए भी डीआरएस (DRS) का इस्तेमाल कर सकती है। 

IPL 2023 के नियम और कायदे: 

इंपैक्ट प्लेयर

आईपीएल 2023 में बीसीसीआई ने इंपैक्ट प्लेयर रूल पेश किया। मालूम हो कि, आईपीएल के इतिहास में पहली बार यह नियम लागू किया गया है। इस नियम के अनुसार, अब टीम को 11 की जगह 12 खिलाड़ियों के साथ खेलने का मौका मिलेगा। मैच के दौरान जब भी टीम को इंपैक्ट प्लेयर का इस्तेमाल करना होगा, तब अंपायर मैदान पर हाथ से क्रॉस सिग्नल दिखाएंगे।

क्या है इंपैक्ट प्लेयर नियम

‘इंपैक्ट’ खिलाड़ी नियम के अनुसार, एक टीम मैच से पहले अपने 15 खिलाड़ियों में चार ऐसे खिलाड़ियों का चुनाव कर सकती है। जो मैच के 14 वें ओवर तक किसी भी समय पर इन खिलाड़ियों को प्लेइंग 11 में शामिल खिलाड़ियों से रिप्लेस कर सकती हैं। लेकिन, इसके लिये खिलाड़ी भारतीय होना चाहिए, अगर अंतिम एकादश में सभी चार विदेश खिलाड़ी हों। अगर अंतिम एकादश में तीन विदेशी खिलाड़ी हों तो एक विदेशी खिलाड़ी ‘इंपैक्ट रिप्लेसमेंट’ के तौर पर दूसरे की जगह आ सकता है।

टॉस के बाद प्लेइंग XI का चयन

IPL 2023 के मैचों के दौरान दोनों कप्तान टीम शीट लेकर टॉस के लिए आएंगे। टॉस होने के बाद उन्हें एक  टीम शीट सौंपनी होगी, जो मैदान पर उतरेगी। अभी तक कप्तानों को टीम शीट को मैच से पहले मैच ऑफिशियल्स को हैंडओवर करना होता था।

डीआरएस का इस्तेमाल

आईपीएल के 16 वें सीजन में हर मैच में प्रत्येक पारी के लिए टीम को दो डीआरएस मिलेंगे। वह LBW और कॉट बिहाइंड के अलावा वाइड व नो बॉल के लिए भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैच आउट

कैच आउट होने पर नया बल्लेबाज स्ट्राइक पर लगाए। सिवाय इसके कि यह ओवर की आखिरी गेंद हो

कोरोना के मैच रिशेड्यूल

यदि कोई भी टीम कोरोना के कारण अपने प्लेइंग इलेवन पूरा नहीं कर सकती। तो BCCI इस मैच को रिशेड्यूल करेगी। वहीं खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ के कोविड-19 पॉजिटिव पाए जाने के बाद उन्हें 7 दिन के आईसोलेशन से गुजरना होगा। वहीं, रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद  ही वह टीम के साथ जुड़ सकते हैं।

निर्धारित समय में पूरी करें पारी 

यदि कोई टीम निर्धारित समय में पारी पूरी नहीं नहीं कर पाई। या आखिरी ओवर समय रहते पूरा नहीं कर पाई। तो  प्रत्येक ओवर के लिए 30 यार्ड सर्कल के बाहर केवल चार फील्डर रखने की ओवर रेट पेनल्टी होगी।

विकेटकीपर की गलती से होगा बड़ा नुकसान 

विकेटकीपर की गलती भी टीम को भारी पड़ सकती है। यदि मैच के दौरान विकेटकीपर ने कोई गलत हरकत की। तो परिणामस्वरूप विपक्षी टीम को 5 पेनल्टी रन दिए जाएंगे। इसके साथ ही उस गेंद को डेड बॉल करार दिया जाएगा। फील्डर द्वारा गलत मूवमेंट के परिणामस्वरूप भी ऐसा होगा।