AAP MLA Chaitra Vasava

Loading

अहमदाबाद. वनकर्मियों को धमकाने के मामले में गुजरात की जिला अदालत नर्मदा (District court Narmada) ने सोमवार को गुजरात के डेडिडयापाड़ा निर्वाचन क्षेत्र से आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक चैतर वसावा (Chaitar Vasava) को जमानत सशर्त जमानत दी। जिला अदालत नर्मदा ने वसावा को इस शर्त पर जमानत दी कि वह मामले का निपटारा होने तक नर्मदा जिले की सीमा में प्रवेश नहीं करेंगे।

गौरतलब है कि 9 जनवरी को दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने चैतर वसावा को भरुच लोकसभा क्षेत्र से ही उम्मीदवार घोषित किया था। उन्होंने राजपीपला जेल पहुंचकर चैतर वसावा से मुलाकात भी की थी।

क्या है मामला

वसावा पर कथित तौर पर वन विभाग के कर्मियों को धमकाने और हवा में फायरिंग करने का आरोप है। यह घटना पिछले साल (2023) 30 अक्टूबर को हुई और मामला 2 नवंबर को दर्ज किया गया था। इसके बाद वसावा ने 14 दिसंबर को पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था।

बता दें कि वसावा इस मामले में करीब एक महीने तक फरार थे। वसावा ने आत्मसमर्पण करने से पहले खुद को फसाए जाने का आरोप लगाया था।

दरअसल, वसावा ने एक किसान की फसल को नष्ट करने के मामले में वनकर्मियों को घर बुलाकर धमकाया और हवा में फायरिंग की थी। इसके बाद वसावा फरार हो गए थे। जबकि, पुलिस ने इस मामले में वसावा की पत्नी शकुंतला, उनके निजी सहायक जीतेंद्र वसावा के साथ किसान रमेशभाई को भी गिरफ्तार किया था।