Corona
File Photo

  • स्वास्थ्य विभाग ने ली राहत की सास

गोंदिया. ब्रिटेन में नए कोरोना का संक्रमण बढ़ा है. जिससे देशभर में पुन: खलबली मच गई है. नए कोरोना का संक्रमण देश में नहीं फैले इसके लिए सतर्कता बरती जा रही है. ब्रिटेन सहित अन्य देशों से आने वाले नागरिकों की विमानतल व जिले में दाखिल होने के बाद स्वास्थ्य विभाग की ओर से जांच की जा रही है.

महीनेभर की अवधि में जिले में 5 लोग विदेश से लौटे हैं. इसमें लंडन से आने वाले 2 व अमेरिका से लौटने वाले 3 नागरिकों का समावेश हैं. इन 5 लोगों की आरटीपीसीआर जांच स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से की गई है. इसमें सभी 5 लोगों के नमूने निगेटिव आए है. विदेश से जिले में आने के बाद उसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग व प्रशासन को देना बंधनकारक है. इसके अलावा ब्रिटेन से आने वाले नागरिकों को खबरदारी उपाय के रूप में शासकीय क्वारंटाइन कक्ष में रखा जा रहा है. जिससे उनकी जांच कर लक्षण नहीं होने की खात्री होने पर उन्हें घर जाने की अनुमति स्वास्थ्य विभाग से दी जा रही है.

स्वतंत्र क्वारंटाइन कक्ष

ब्रिटेन में नए कोरोना का संक्रमण बढ़ने के बाद जिले में भारी सतर्कता बरजी जा रही है. इस देश से आने वाले नागरिकों की कोरोना जांच कर उन्हें शासकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज के क्वारंटाइन कक्ष में रखा जा रहा है. यह जानकारी जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा.नितीन कापसे ने दी है. 

विदेश से लौटे 754 लोग

जिले में अप्रैल से दिसंबर इस कालावधि में विदेश से कुल 754 लोग वापस लौटे है. इसमें सबसे अधिक नागरिक दुबई से आने वाले हैं. अनेक लोग दुबई में रोजगार के लिए गए थे, लेकिन कोरोना का संक्रमण बढ़ने पर यह नागरिक अपने देश लौट आए है. कोरोना के संक्रमण को ध्यान में रखकर जिला प्रशासन ने उपाय के रूप में विदेश से जिले में आने वालों की जानकारी जिला प्रशासन को देना अनिवार्य किया है. इसके बाद इन नागरिकों की मेडिकल जांच की जाती है. इसी तरह उन्हें 14 दिन शासकीय क्वारंटाईन कक्ष में रखा जा रहा है.