Modernize Municipal Hospitals with District Planning Fund: Shiv Sena

    धुलिया.  जिला नियोजन (District Planning) के अंतर्गत आने वाली राशि से निगम के अस्पतालों (Municipal Hospitals) में आधुनिक लैब (Modern Lab) स्थापित करें। मरीजों (Patients) को डिजिटल एक्स-रे मशीन (Digital X-Ray Machine), सीटी स्कैन और एमआरआई और अन्य जरूरी मशीनें उपलब्ध कराने की भी मांग शिवसेना द्वारा की गई। 

    महानगरपालिका कमिश्नर को दिए एक ज्ञापन में राज्य सरकार ने कोविड की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था को मजबूत करने के लिए 210 करोड़ रुपये की मंजूरी दी है, जिसमें से 63 करोड़ रुपए जिला नियोजन के लिए रखे हुए हैं। राज्य सरकार का मुख्य उद्देश्य स्थानीय स्वास्थ्य व्यवस्था को मजबूत करना है। लेकिन जिले में निष्क्रय स्वास्थ्य व्यवस्था के होने से इस कोष का एक भी रुपया खर्च नहीं हो पाया है।  इसलिए महानगरपालिका की स्वास्थ्य प्रणाली को मजबूत करने के लिए हमें मुंबई की तर्ज पर आधुनिक लैब, डिजिटल एक्स-रे मशीन, हाई-टेक सीटी स्कैन और हाई-टेक एमआरआई मशीनों की मांग करनी चाहिए और धुलिया कॉर्पोरेशन के स्वामित्व वाले औषधालयों को दवाओं से लैस करना चाहिए। 

    नागरिकों के लिए सुविधाजनक है

    नतीजतन, धुलिया के नागरिकों को निजी केंद्रों में भारी पड़ने वाले दरों का सामना नहीं करना पड़ेगा। ये सुविधाएं नागरिकों को महानगरपालिका के माध्यम से मुफ्त या कम दरों पर उपलब्ध कराई जा सकती हैं। इससे नागरिकों का आर्थिक शोषण रुकेगा। धुलिया महानगरपालिका में बड़ी संख्या में औषधालय हैं जो शहर के केंद्र और उसके नागरिकों के लिए सुविधाजनक है। लेकिन अस्पतालों में अच्छी सुविधाएं नहीं हैं।  इसलिए नागरिकों को स्वास्थ्य संबंधी कोई समस्या होने पर शहर से 10 किमी बाहर हिरे मेडिकल या जवाहर मेडिकल के पास जाना पड़ता है, जो असुविधाजनक हो या निजी अस्पताल में जाकर इलाज कराना पड़े।

    देश के लोगों को भी लाभान्वित कर रहा है

    मुंबई महानगर निगम, जेजे अस्पताल या केईएम संस्थान विश्व स्तरीय अत्याधुनिक सुविधाओं को मुफ्त या कम कीमत पर स्थापित करके न केवल राज्य के नागरिकों को बल्कि देश के लोगों को भी लाभान्वित कर रहा है। इसी प्रकार धुलिया महानगरपालिका के स्वामित्व वाले अस्पतालों में भी उपरोक्त आधुनिक उपकरण लगाए जाने चाहिए और नागरिकों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए सकारात्मक प्रयास किए जाने चाहिए। एैसी मांग संपर्क प्रमुख महेश मिस्त्री, उप जिला प्रमुख किरण जोंधले, शहर प्रमुख मनोज मोरे, डॉ. सुशील महाजन, पुरुषोत्तम जाधव, संदीप चव्हाण, संजय जगताप, बालू अगलेव, संजय वाल्हे, शेखर बडगुजर, योगेश चौधरी, देवा लोणारी, गुलाब सोनावणे और नीलेश मराठे ने महानगरपालिका  कमिश्नर से की है।