Bhujbal and jarange

Loading

नवभारत न्यूज़ नेटवर्क
जालना/ मुंबई: आरक्षण के मुद्दे पर मराठा नेता मनोज जरांगे पाटिल (Manoj Jarange Patil ) का ओबीसी के कद्दावर नेता व कैबिनेट मंत्री छगन भुजबल (Chhagan Bhujbal) पर हमला (Fight) जारी है। अब उन्होंने भुजबल को ‘पनौती’ करार दिया है। पाटिल ने कहा कि कानून का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के बारे में बोलने की कोई इच्छा नहीं है। जो व्यक्ति भगवान की जाति की बात करता हो। धनगर लोगों की भीड़ जमा करता है लेकिन उनके आरक्षण की बात नहीं करता है। संवैधानिक पद पर बैठा ये आदमी दो जातियों के बीच दरार पैदा कर रहा है। ऐसा आदमी पनौती (Panauti) जैसा है। जरांगे ने कहा कि भुजबल के बारे में ज्यादा बात करने की जरूरत नहीं है। 
 
भुजबल से नाराज़ पाटिल 
दरअसल आरक्षण के मुद्दे को लेकर भुजबल और पाटिल के बीच छत्तीस का आंकड़ा चल रहा है। भुजबल ने राज्य सरकार के उस फैसले का विरोध किया है, जिसमें मराठा समाज के लोगों को कुनबी प्रमाण पत्र दिए जाने का फैसला किया गया है। साथ ही ओबीसी नेता ने मराठा आरक्षण के लिए शिंदे समिति को भी बर्खास्त करने की मांग की है। इस वजह से जरांगे पाटिल काफी ख़फा है। 

 
मंत्रियों के दौर से कुछ नहीं होगा
राज्य में बेमौसम बारिश से किसानों को हुए नुकसान का जायजा लेने गुरुवार को भुजबल ने नासिक के आस-पास के इलाकों का भी दौरा किया। इस संबंध में जरांगे पाटिल ने  कहा कि मंत्री के किसानों के खेतों पर जाने से कुछ नहीं होगा। इस बारे में प्रशासन को तुरंत पंचनामा करना चाहिए और जल्द ही अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंपनी चाहिए। ताकि किसानों के लिए तुरंत मदद का ऐलान किया जा सके।