Kripashankar Singh

    मुंबई: अयोध्या (Ayodhya) में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के बाद अब 13 दिसंबर को वाराणसी (Varanasi) में नवनिर्मित काशी विश्नाथ कोरिडोर (Kashi Vishwanath Corridor) का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) करेंगे। जिसके मद्देनजर भाजपा (BJP) की तरफ से देशभर में ‘दिव्य काशी, भव्य काशी’  नाम से कार्यक्रम  का आयोजन किया जा रहा है। महाराष्ट्र स्थित तीन ज्योर्तिलिंग सहित लगभग 2100 मठ मंदिरों  विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। यह जानकारी भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष और ‘दिव्य काशी, भव्य काशी’  कार्यक्रम के प्रदेश समन्वयक कृपाशंकर सिंह (Kripashankar Singh) ने दी है।

    भाजपा प्रदेश कार्यालय में आयोजित पत्रकार परिषद में कृपाशंकर सिंह ने बताया कि बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक काशी के सर्वांगीण विकास के साथ ही सौंदर्यीकरण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले 7 सालों में अनेक योजनाओं को मूर्ति रुप दिया है। 13 दिसंबर को होने वाले कार्यक्रम में देशभर के धर्माचार्य, साधु- संत, विद्वान- बुद्धिजीवी साथ ही उत्तर प्रदेश सहित अनेक राज्यों के मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री सहभागी होने वाले है। भारतीय संस्कृति की विशिष्टता रहे सामाजिक समरसता, एकता और अखंडता का अनोखा दर्शन इस कार्यक्रम के माध्यम से होगा। राज्य के 50 साधु- संत इस कार्यक्रम में सहभागी होनेवाले हैं।राज्य में विभिन्न स्थानों पर होने वाले कार्यक्रमों में प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत दादा पाटिल , पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, विधान परिषद में विरोधी पक्ष नेता प्रवीण दरेकर सहित पार्टी के सभी वरिष्ठ पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि सहभागी होंगे।   

    बड़े पर्दे पर सीधा प्रसारण

    भाजपा आध्यात्मिक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष आचार्य तुषार भोसले ने बताया कि ‘दिव्य काशी, भव्य काशी’ कार्यक्रम का बड़े पर्दे पर सीधा प्रसारण किया जाएगा। 10, 11 और 12 दिसंबर के दिन सभी मंदिरों के साथ ही मठ, आश्रम और अन्य धार्मिक स्थलों पर स्वच्छता अभियान का आयोजन किया जाएगा। इन सभी कार्यक्रमों में धर्माचार्य, साधु- संतों का सम्मान किया जाएगा।