देवेंद्र फडणवीस ने शिवसेना में लगाई सेंध, पूर्व विधायक सुभाष सबने बीजेपी उम्मीदवार

  • केंद्रीय नेतृत्व ने किया नाम का ऐलान
  • पंढरपुर की तरह बीजेपी की देगलुर-बिलोली विधानसभा पर कब्जा की तैयारी

मुंबई.  नांदेड़ जिले में देगलुर-बिलोली विधानसभा उपचुनाव को लेकर कांग्रेस पार्टी जहां उम्मीदवार के नाम पर मंथन कर रही है ,वहीं भाजपा ने शिवसेना नेता सुभाष सबने को मैदान में उतारने का निर्णय ले लिया है। भाजपा सोलापुर जिले की पंढरपुर-मंगलवेढ़ा विधान सभा उप चुनाव की तर्ज पर देगलुर बिलोली सीट पर भी महाविकास आघाड़ी को पटखनी देना चाहती है।

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री एवं विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस रविवार को अतिवृष्टि से हुए नुकसान का जायजा लेने नांदेड पहुंचे वहीं असंतुष्ट शिवसेना नेता सुभाष सबने से मुलाकात की। मुलाकात के बाद फडणवीस ने सबने की उम्मीदवारी का ऐलान किया । जिस पर केंद्रीय नेतृत्व ने भी  मुहर लगा दी है।

उपचुनाव  कराने का निर्णय 

 देगलुर-बिलोली के विधायक एवं कांग्रेस नेता रावसाहेब अंतापुरकर का कुछ माह पहले ही कोरोना की वजह से निधन हो गया था। चुनाव आयोग ने  रिक्त सीट भरने के लिए 30 अक्टूबर को विधानसभा उपचुनाव  कराने का निर्णय लिया है। कांग्रेस पार्टी उम्मीदवारी को लेकर रावसाहेब अंतापुरकर के बेटे सहित लगभग आधा दर्जन नामों पर चर्चा कर रही है। जबकि भाजपा ने शिवसेना के पूर्व विधायक को मैदान में उतारने का मन बना लिया है।

समाधान आवताड़े को उम्मीदवार बनाया

पिछले साल सोलापुर जिले की पंढरपुर-मंगलवेढ़ा विधानसभा क्षेत्र के विधायक एवं एनसीपी नेता भारत भालके की कोरोना से मृत्यु हो गई थी। अप्रैल महीने में उप चुनाव कराया गया था। एनसीपी ने भालके के बेटे भगीरथ भालके को उम्मीदवार बनाया था। जबकि भाजपा ने ऐन मौके पर समाधान आवताड़े को उम्मीदवार बनाया। भाजपा की रणनीति के तहत महाविकास आघाड़ी के उम्मीदवार भगीरथ भालके चारो खाना चित हो गए थे।

अशोक चव्हाण के खिलाफ नाराजगी जताई

 भाजपा नेता  एवं पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने नांदेड के नरसी नैगांव में शिवसेना के पूर्व विधायक सुभाष सबने से मुलाकात की। दोनों नेताओं ने बंद कमरे में काफी देर तक चर्चा की। मुलाकात के बाद सब ने  कांग्रेस नेता एवं सार्वजनिक निर्माण मंत्री अशोक चव्हाण के खिलाफ नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि जिले में चव्हाण का एक छत्र राज्य है। जिससे निजात पाने की जरुरत है। सभी औपचारिक रुप से भाजपा की सदस्यता ग्रहण करेंगे।