Driving License Canceled

    नाशिक: वर्तमान में नाशिक शहर (Nashik City) में पुलिस प्रशासन (Police Administration) द्वारा बाइक चालकों को हेल्मेट (Helmet) का उपयोग करने के लिए उन पर सख्ती बरती जा रही है, लेकिन नए साल में हेल्मेट के इस्तेमाल पर सख्ती की जा रही है और दंडात्मक कार्रवाई के साथ-साथ ड्राइविंग लाइसेंस रद्द (Driving License Canceled) करने के प्रावधान के साथ अब दोपहिया वाहनों द्वारा हेल्मेट का इस्तेमाल अनिवार्य हो जाएगा। 

    पुलिस कमिश्नर दीपक पांडेय (Police Commissioner Deepak Pandey) ने नाशिक शहर में दुपहिया वाहनों को हेल्मेट पहनने के लिए मजबूर करने के लिए विभिन्न गतिविधियों को लागू किया। अब तक पुलिस कमिश्नर के आदेश पर ‘नो हेल्मेट, नो पेट्रोल’ और फिर बिना हेल्मेट दोपहिया वाहन चालकों की 2 घंटे तक काउंसलिंग की जा चुकी है। 1 नवंबर से 22 दिसंबर तक 7385 बिना हेल्मेट वाले दोपहिया वाहनों की काउंसिलिंग की गई, साथ ही 15 अगस्त 2021 से 30 नवंबर 2021 तक बिना हेल्मेट के दोपहिया वाहन चलाते हुए 24 पुरुष और 5 महिला दोपहिया वाहन चालकों की मौत हो गई। 

    जुर्माना भरने तक पुलिस कब्जे में रहेगा वाहन

    18 जनवरी 2022 से बिना हेल्मेट के उपस्थित होने वाले किसी भी वाहन मालिक को काउंसलिंग वर्कशॉप से गुजरना होगा, लेकिन ई-चालान प्रणाली के तहत मोटर वाहन अधिनियम के तहत 500/- रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। साथ ही लाइसेंस निलंबन की कार्रवाई की जाएगी। साथ ही नया अध्यादेश जारी किया गया है जिसमें कहा गया है कि जब तक बिना हेल्मेट वाला व्यक्ति जुर्माना नहीं भरेगा तब तक उसका वाहन पुलिस के कब्जे में रहेगा और जुर्माना भरने के बाद ही उसका वाहन जब्त किया जाएगा। नाशिक शहर के विभिन्न क्षेत्रों में प्रतिदिन लिया जाना चाहिए। सहायक पुलिस आयुक्त, नगर परिवहन सीताराम गायकवाड़ ने सभी दोपहिया वाहन चालकों से अपील की है कि वे नियमों का पालन करें और दोपहिया वाहन चलाते समय अपनी सुरक्षा के लिए हेल्मेट का प्रयोग करें और काउंसलिंग में अपना समय बचाएं।