पुणे में बच्चों को पहले दिन लगा टीका

    पुणे: 15 से 18 साल के उम्र वाले बच्चों (Childrens) का टीकाकरण (Vaccination) पुणे महानगरपालिका (Pune Municipal Corporation) ने सोमवार से शुरू कर दिया। इसे बच्चों का बेहतर प्रतिसाद मिल रहा है। भारी संख्या में बच्चे टीकाकरण केंद्रों पर आ रहे हैं। पुणे महानगरपालिका ने इस अभियान में 2 से 2.5 लाख बच्चों का टीकाकरण का लक्ष्य रखा है। 

    महापौर मुरलीधर मोहोल ने बताया कि शहर के ४० टीकाकरण केंद्रो पर सोमवार से टीकाकरण शुरू हो चुका है। पुणे महानगरपालिका प्रशासन के पास लगभग 78,000 डोज उपलब्ध हैं।

    बच्चों में दिखी टीकाकरण की ख़ुशी

    18 साल से कम उम्र के बच्चे स्कूल जाते हैं, ट्यूशन जाते हैं। इसलिए उनमे कोरोना को लेकर डर व्याप्त है। सोमवार से बच्चों के लिए शुरू किए गए टीकाकरण अभियान में टीका लेने के बाद बच्चों के चेहरे पर संतुष्टि और ख़ुशी देखी जा रही है। कक्षा 10 वीं के छात्र सुधीर गायकवाड़ ने टीका लगवाने के बाद बताया कि कोरोना के चलते स्कूल या कहीं और जाते समय सावधान रहना पड़ता है। घर पर सभी को टीका लगा था। मैं ही बाकी था। अब मुझे टीका लग गया है। अब मैं भी सुरक्षित महसूस कर रहा हूं। 11वीं के छात्र राजेश सावंत का कहना है कि 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के साथ ही हमारा भी टीकाकरण शुरू करना चाहिए था। आज पहले दिन ही मुझे टीका लग गया। अब कोई समस्या नहीं है। अच्छा लग रहा है।

    10 जनवरी से लगेंगे बुस्टर डोज

    पुणे शहर के 60 वर्ष के उम्र वाले वरिष्ठ नागरिकों को 10 जनवरी से बुस्टर डोज दिया जायेगा। इस अभियान में कोरोना की लड़ाई में लडनेवाले फ्रंटलाइन वर्कर को भी 10 जनवरी से बुस्टर डोज दिया जाएगा।