Ego of power calling farmers movement protesters useless Mohan Joshi

  • पूर्व विधायक मोहन जोशी ने की आलोचना

पुणे. महाराष्ट्र कांग्रेस महासचिव (Maharashtra Congress General Secretary) और पूर्व विधायक मोहन जोशी (Former MLA Mohan Joshi) ने कहा कि महीने से आंदोलन (Protest) पर बैठे अन्न उत्पादक किसानों को भाजपा सांसद गिरीश बापट (BJP MP Girish Bapat) बेकार कह रहे हैं. यह उनकी सत्ता का अहंकार बोल रहा है. 

मोहन जोशी ने कहा कि भाजपा ने कृषि अधिनियम के समर्थन में शुक्रवार को आंदोलन किया. इस अवसर पर  प्रदर्शनकारियों के सामने बोलते हुए सांसद गिरीश बापट ने दिल्ली (Delhi) में किसानों के विरोध प्रदर्शन को बेकार बताया. किसानों के आंदोलन के लिए कई दलों के समर्थन के बावजूद यह कहकर किसानों को गुमराह करने की कोशिश की.  भाजपा नेताओं (BJP Leaders) में यह भावना है कि सत्ता के बल पर वे जो चाहें कर सकते हैं. मोहन जोशी ने कहा कि भाजपा नेता बेतुके बयान दे रहे है. 

 भाजपा नेता सत्ता की नशे में चूर 

जोशी के अनुसार संसद का शीतकालीन सत्र कोरोना के प्रकोप के कारण रद्द कर दिया गया था. लेकिन ऐसा करने की जरुरत नहीं थी. किसानों की मांगों पर चर्चा से बचने के लिए संसद स्थगित करना और संसद में बहुमत के आधार पर अडानी-अंबानी द्वारा कृषि कानूनों को पारित करना सत्ता के नशे का संकेत है.  कृषि उपज के लिए एमएसपी की मांग के पीछे एक संकीर्ण मानसिकता है. 

वादा भूल गई BJP

जोशी ने कहा कि  लोकसभा चुनावों में, भाजपा ने कृषि वस्तुओं की कीमतों में आधी वृद्धि करने का वादा किया था, लेकिन जब यह सत्ता में आई, तो वादा भूल गई. किसान विरोधी नीतियों को लगातार लागू किया. इसलिए विभिन्न किसान संगठन सरकार के खिलाफ खड़े हो गए, ऐसा जोशी ने पत्र में कहा है.