Government approved domestic chartered flights, issued guidelines
File Photo

    पुणे. दक्षिण अफ्रीका (South Africa) में मिले कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) के चलते पुणे नगर निगम (Pune Municipal Corporation) अलर्ट हो गया है। नगर निगम अफ्रीकी देशों से आने वाले यात्रियों पर ध्यान दे रही है। मीडिया खबर के अनुसार पुणे में कुछ दिन पहले जाम्बिया से एक यात्री लौटा। जिसके बाद तुरंत उसे क्वारंटाइन (होम क्वारंटाइन) में रहने का निर्देश दिया गया। वहीं सोमवार को उसकी कोरोना टेस्ट की गई, जो कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। 

    स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, एक व्यक्ति, जो 25 नवंबर को जाम्बिया से पुणे लौटा था, उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। वह 20 नवंबर को जाम्बिया से मुंबई लौटा था और फिर टैक्सी से पुणे की यात्रा की थी। उसका नमूना जीनोम अनुक्रमण के लिए भेजा गया है और उस पर रिपोर्ट का इंतजार है।

    वहीं, पुणे नगर निगम ने उनके परिवार के सदस्यों और उनके साथ मुंबई से पुणे की यात्रा करने वाले ड्राइवर का आरटी-पीसीआर परीक्षण किया है और उन सभी ने नकारात्मक परीक्षण किया है। जाम्बिया से लौटा यात्री व्यक्ति लगभग 60 वर्ष का है और स्थिर है। उसे आइसोलेट कर दिया गया है।

    ओमिक्रॉन वायरस को देखते हुए नगर निगम ने एहतियात बरतना शुरू कर दिया है। नगर निगम ने न केवल दक्षिण अफ्रीका से बल्कि हांगकांग, ऑस्ट्रिया, जिम्बाब्वे, जर्मनी और इज़राइल से भी जानकारी मांगना शुरू कर दिया है। केंद्र सरकार ने ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे को देखते हुए राज्य सरकार को उचित सावधानी बरतने के निर्देश दिए हैं। तदनुसार महानगरपालिका ने शहर के एयरलाइन प्रशासन से उन नागरिकों के बारे में जानकारी मांगी है जो विदेश से पुणे आए हैं। पता चला है कि 20 दिन पहले एक नागरिक दक्षिण अफ्रीका से पुणे आया था।

    नगर निगम ने तत्काल उसकी तलाश की और नए टेस्ट की रिपोर्ट आने तक घर में ही रहने का निर्देश दिया है। वर्तमान में जिस देश में यह वायरस पाया गया है। उस देश से पुणे के लिए कोई सीधी उड़ान नहीं है। इसलिए महानगरपालिका ने अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे से शहर में आने वाले नागरिकों की जानकारी जुटाना शुरू कर दिया है। वहीं शहर में मरीजों की संख्या अब सैकड़ों में है। स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि यह पहले की तुलना में कम है।

    वहीं, जिन देशों में ओमिक्रॉन का पता चला है, वहां से पुणे के लिए कोई सीधी उड़ान नहीं है। जिसके चलते, स्थानीय प्रशासन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों से पुणे पहुंचने वाले लोगों की जानकारी एकत्र कर रहा है। हालांकि, पिछले एक सप्ताह में शहर में रोजाना मरीजों की संख्या सौ से नीचे रही है, लेकिन यह पहले से ज्यादा बढ़ गई है। साथ ही संक्रमित लोगों (कुल 100 मरीजों में से) का प्रतिशत फिर से 1.5 फीसदी से बढ़कर 2.5 फीसदी हो गया है। हालांकि, स्वास्थ्य विभाग ने स्पष्ट किया है कि वृद्धि संक्रमणों की संख्या में उतार-चढ़ाव के कारण हुई है, इसलिए यह नहीं कहा जा सकता है कि शहर में कोरोना संक्रमण तुरंत बढ़ गया है।