job
File Photo

    पुणे. नए रोजगार (New Jobs) के मौके उपलब्ध कराने के लिहाज से देश में बंगलुरु (Bangalore) के बाद पुणे (Pune) दूसरे नंबर (Second Number) पर आ गया है। 2020 के अगस्त महीने की तुलना में इस बार रोजगार का इंडेक्स 40 फीसदी से बढ़ा है।  मॉन्स्टर एम्प्लॉयमेंट इंडेक्स (Monster Employment Index) द्वारा जारी की गई रिपोर्ट (Report) से यह जानकारी सामने आई है। कोरोना काल में लॉकडाउन (Lockdown) के कारण कई लोगों की नौकरी चली गई, जबकि बड़ी संख्या में लोग अपने गांव को लौट गए। 

    मॉन्स्टर ने रिपोर्ट में बताया कि इस बार अगस्त महीने में केवल राष्ट्रीय स्तर पर 44 अंक का रोजगार इंडेक्स बढ़ा है। यह वृद्धि प्रमुख रूप से इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी, सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर, परिवहन जैसे क्षेत्र में नौकरी के संदर्भ में देखने को मिला है। इसकी तुलना में शिक्षा, इंजीनियरिंग, कंस्ट्रक्शन आदि क्षेत्र में नए रोजगार नहीं है।   पुणे के आईटी सेक्टर में उत्पादन, सेवा और निर्यात क्षेत्र को फायदा हुआ है।

    कई  क्षेत्रों में रोजगार के मौके बढ़े हुए नजर आए

    कोरोना मरीजों की संख्या सीमित रहने पर अगले छह महीने में पुणे और पिंपरी- चिंचवड़ का इंडस्ट्रियल सेक्टर अपने पूर्व की स्थिति में आ जाएगा, यह विश्वास जानकारों ने व्यक्त किया है। एमसीसीआइए पुणे के अध्यक्ष सुधीर मेहता ने कहा कि कोरोना काल में बढ़े वेक्सीनेशन, त्यौहार आदि की वजह से पुणे के आईटी सेक्टर के साथ-साथ उत्पादन और परिवहन क्षेत्र में नए रोजगार में मौके बढ़े हुए नजर आए।  विश्वास है कि पुणे और पिंपरी-चिंचवड़ शहर के संदर्भ में रोजगार की यह वृद्धि ऐसी ही नहीं रहेगी। 

    रिपोर्ट के महत्वपूर्ण निष्कर्ष 

    • पिछले छह महीने में रोजगार के इंडेक्स में औसत 5% की वृद्धि
    • जुलाई और अगस्त 2021 में नए रोजगार के मौके में वृद्धि स्थिर
    • सभी शहर में आईटी , सॉफ्टवेयर के क्षेत्र में रोजगार बढ़ा
    • ऊंचे पदों या मैनेजिंग डायरेक्टर की जिम्मेदारी वाली नौकरी में सबसे अधिक भर्ती
    • जनवरी 2021 से रोजगार का इंडेक्स बढ़ा