Thane Municipal Corporation
File Photo

    ठाणे : कोरोना संक्रमण (Corona Infection) काल से ही महानगरपालिका संपत्ति कर (Municipal Property Tax) और पानी बिल (Water Bill) के साथ अन्य करों की वसूली (Recovery) में गिरावट हुई है। जिसे अब बढ़ाने के लिए महानगरपालिका प्रशासन ने कदम बढ़ा दिया है। इस संदर्भ में महानगरपालिका अतिरिक्त आयुक्त संजय हेरवाडे ने सभी सहायक आयुक्तों और कर निरीक्षकों का बैठक ली और कर वसूली को लेकर उचित नियोजन कर प्रभाग समिति निहाय विशेष वसूली मुहीम शुरू कर दिसंबर अंत तक 100 फीसदी वसूली करने का निर्देश दिया।  

    गौरतलब है कि ठाणे महानगरपलिका की कोरोना संकट के चलते आर्थिक स्थिति खराब हो गई है। हालांकि संपत्ति कर और जल भुगतान की अपेक्षित वसूली हो रही है, लेकिन नगर विकास विभाग समेत अन्य विभागों के राजस्व संग्रह पर असर पड़ा है। इस साल संपत्ति कर विभाग को 740 करोड़ रुपये का लक्ष्य दिया गया है।  संपत्ति कर विभाग अब तक 355.46 करोड़ रुपये वसूल कर चुका है। पिछले साल इसी अवधि के दौरान 253 करोड़ रुपए की वसूली हुई थी। वहीं जलापूर्ति विभाग अब तक 32.56 करोड़ रुपये वसूल कर चुका है। पिछले साल इसी अवधि में 44 करोड़ रुपये की वसूली हुई थी।  इस साल कलेक्शन में 11.44 करोड़ रुपये की गिरावट आई है। 

    पानी बिल वसूली की समीक्षा ली

    महानगरपालिका सूत्रों की मानें तो ठाणे महानगरपालिका को राज्य सरकार की ओर से स्टांप शुल्क और कोरोना अनुदान के रूप में 530 करोड़ रुपये नहीं मिले हैं।  खजाने में पैसे की कमी के चलते महानगरपालिका ने ठेकेदारों से करीब 800 करोड़ रुपये का भुगतान रोक दिया है। वहीं वसूली कम होने का असर महानगरपालिका के विकास कार्यों पर भी पड़ रहा है। जिसे ध्यान में रखते हुए शुक्रवार को स्व.  नरेंद्र बल्लाल सभागृह में महानगरपालिका के अतिरिक्त आयुक्त संजय हेरवाडे ने बैठक की। उन्होंने इस दौरान संपत्ति कर और पानी बिल वसूली की समीक्षा ली।  

    5.47 लाख संपत्ति करों का बिल वितरित

    इस दौरान हेरवाडे ने बताया कि महानगरपालिका ने इस वर्ष संपत्ति कर से 355. 46 करोड़ रूपए की वसूली कर चुकी है। जोकि यह वसुली निर्धारित लक्ष्य से 48 प्रतिशत अधिक है। साथ ही अब तक करीब 5.47 लाख संपत्ति करों का बिल वितरित किया जा चूका है। इस दौरान अतिरिक्त आयुक्त हेरवाडे ने महानगरपालिका के कुल 176 ब्लॉक में सभी नागरिक आसानी से संपत्ति कर और पानी बिल का भुगतान कर सकें इसके लिए प्रभाग समिति निहाय विशेष वसुली मुहीम लागू करने का निर्देश भी अधिकारियों को दिया है।  

    बकायादारों पर विशेष लक्ष्य 

    हेरवाडे ने कहा कि वसूली मुहीम को तेज करने के साथ ही ब्लॉकनिहाय बकायादारों की सूची तैयार कर ऐसे लोगों से कर और पानी बिल की वसूली के विशेष लक्ष्य देने का निर्देश दिया गया है।