Two road accidents, 11 killed, many injured in northwest Pakistan
File Photo

    वर्धा. जिले में सड़क हादसे काफी बढ़ गए है़ं इसके लिए रफ्तार मुख्य कारण बताया गया है़ यातायात नियमों का पालन न करने तथा लापरवाही से वाहन चलाने के कारण भी अनेक हादसे घटते है़ं  जिले में ऐसी कुछ जगह हैं, जहां आये दिन हादसे होते है़ं  ऐसे करीब 28 ब्लैक स्पॉट से बचने का आह्वान यातायात विभाग ने किया है़  जनवरी से जुलाई माह में करीब 298 हादसे जिले में घटे है़ं  इसमें 126 लोगों ने अपनी जान गंवाई, तो 164 घायल हुए है़ं  बता दें कि, यातायात नियमों का पालन हो, इसलिए संबंधित विभाग द्वारा जनजागरण किया जाता है़  बावजूद इसके वाहन चालक इन नियमों का उल्लंघन करते नजर आते है़ं.

    पिछले कुछ वर्षों में जिले से नेशनल हाईवे गुजरे है़ं  और कुछ मार्गों का फोरलेन सीमेंटीकरण किया गया है़  ऐसे में उपरोक्त मार्ग से दौड़नेवाले वाहनों की रफ्तार भी बढ़ गई है़  नागरिकों को दुपहिया चलाते समय हेल्मेट की सख्ती की गई है़  परंतु अनेक वाहन चालक बिना हेल्मेट के ही दुपहिया दौड़ाते है़ं  युवा वर्गों में विशेष कर दुपहिया का क्रेज देखा जाता है़  जो रफ्तार से दुपहिया चलाकर अपनी मौत को न्योता देते नजर आ रहे है़ं  जिले में 28 ब्लैक स्पॉट निश्चित किये गए हैं, जहां आये दिन हादसे घट रहे है.

    यहां होनेवाली दुर्घटना पर रोक लगाने के लिए यातायात विभाग, लोकनिर्माणकार्य विभाग व उप प्रादेशिक परिवहन विभाग द्वारा संयुक्त रुप से उपाययोजना चलायी जा रही है़  इन जगहों पर सूचना तख्ती लगाकर वाहनधारकों को सतर्क किया जा रहा है़  यहां से वाहन की गति कम करें, ओवरटेक का प्रयास न करें, लापरवाही न बरते़ं  इस प्रकार का आह्वान किया जा रहा है. 

    ये हैं ब्लैक स्पॉट वाली जगह

    एकाध जगह पर लगातार तीन वर्ष तक पांच बड़े व गंभीर हादसे घटे हों, ऐसे जगह को ब्लैक स्पॉट निश्चित किया जाता है़  जिले में ऐसे 28 ब्लैक स्पॉट बताये गए है़ं  इसमें आष्टी टी-पाइंट, सारवाडी, कवठा, मलकापुर-केलापुर, पुलगांव-नाचनगांव मार्ग, हिवरा, खरांगना, खरांगना वनविभाग दफ्तर, आंजी से जामनी, मासोद, बोरगांव (सावली), इसापुर, अल्लीपुर पेट्रोल पम्प, रिमडोह, कलोडे चौक, नांदगांव चौराहा, हलदगांव, जाम चौराहा, कोहली परिसर, शांतिनगर, वर्धा बस स्थानक से रेलवे मार्ग, येलाकेली, सलोड, सावंगी, भूगांव, साठोडा, नीमगांव, मॉडेल स्कूल आर्वी आदि ब्लॉक स्पॉट का समावेश है. 

    7 महीने में 108 गंभीर दुर्घटनाएं

    जिले में जनवरी से जुलाई इन 7 महिणो में 108 गंभीर हादसे घटे है़ इसमें 113 पुरुष व 13 महिला कुल 126 लोगों ने अपनी जान गवाई है़ 88 हादसो 117 पुरुष व 47 महिला कुल 164 लोग घायल हुए है़ं  जबकि 87 छोटे हादसे घटे है़ं  इसमें 134 पुरुष व 41 महिला कुल 175 लोग मामूली रूप से घायल हुए है़ं 

    यातायात नियमों का करें पालन

    अधिकांश हादसे तेज रफ्तार के कारण घटते है़ं  वाहनधारक यातायात नियमों का पालन करें. हेल्मेट का नियमित उपयोग, सीट बेल्ट पहनें. वाहन चलाते समय लापरवाही न बरतें. जिले में 28 ब्लैक स्पॉट से सुरक्षित वाहन चलाये. 

    -रवींद्र रेवतकर, यातायात विभाग प्रमुख