स्मृति ईरानी (Photo Credits-ANI Twitter)
स्मृति ईरानी (Photo Credits-ANI Twitter)

    नई दिल्ली: भारत से करीब 100 साल पहले चोरी हुई मां अन्नपूर्णा की मूर्ति (Annapurna Statue) को वापस लाया गया है। इसे आज यूपी सरकार को सौंपा जाएगा। साथ ही 15 नवंबर को काशी विश्वनाथ मंदिर में इसे स्थापित किया जाएगा। इसी बीच केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Union Minister Smriti Irani) ने एक बयान में कहा कि मां का मूर्ति स्वरुप काशी लौटने की तैयारी में है और ये हमारे लिए गौरव का विषय है। 

    बता दें कि मां अन्नपूर्णा की मूर्ति कनाड़ा से वापस भारत आने पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि जो मूर्तियां भारत से चोरी की गईं थी, या ले ली गईं थी, वे अब लौट रही हैं। अब तक 200 ऐसी मूर्तियां वापस लाई गई हैं। मां का मूर्ति स्वरुप काशी लौटने की तैयारी में है, ये हमारे लिए गौरव का विषय है।

    स्मृति ईरानी का बयान-

    वहीं दूसरी तरफ केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी ने कहा कि एक समय था जब भारत की परंपराएं टूटे हुए घड़े के समान रिसरिस कर देश के बाहर जा रही थी और आज उसको मरम्मत और मज़बूत करके वापस संजोने का काम हो रहा है।

    उल्लेखनीय है कि मां अन्नपूर्णा की जो मूर्ति आ रही है उसमें एक हाथ में खीर की कटोरी और एक चम्मच है। कहा जा रहा है कि यह मूर्ति 18वीं शताब्दी की है। जिसे 1913 में काशी के घाट से चुराया गया था।   फिर यह अन्य देशों के जरिए कनाडा पहुंच गई।