It is a wake-up call, not going to ignore this, says under-fire Justin Langer

‘सिडनी मार्निंग हेरल्ड' के अनुसार राष्ट्रीय टीम के कुछ खिलाड़ी लैंगर (Justin Langer) की कोचिंग शैली से खुश नहीं हैं।

मेलबर्न. भारत के हाथों आस्ट्रेलिया की (India vs Australia Test Series) टेस्ट श्रृंखला में हार के बाद आलोचकों के निशाने पर रहे टीम के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर (Justin Langer) ने उनकी कोचिंग शैली की आलोचनाओं को ‘चेतावनी’ करार देते हुए कहा कि वह इन्हें नजरअंदाज नहीं करेंगे। भारतीय टीम ने कई खिलाड़ियों के चोटिल होने के बावजूद आस्ट्रेलिया (Australia) की मजबूत टीम के खिलाफ चार मैचों की श्रृंखला 2-1 से जीती थी।

‘सिडनी मार्निंग हेरल्ड’ के अनुसार राष्ट्रीय टीम के कुछ खिलाड़ी लैंगर (Justin Langer) की कोचिंग शैली से खुश नहीं हैं। लैंगर ने इस रिपोर्ट को बकवास करार दिया लेकिन उन्होंने आलोचनाओं को शानदार उपहार के तौर पर स्वीकार किया।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं निश्चित तौर पर इसको नजरअंदाज नहीं कर रहा हूं और यह मेरे लिये एक चेतावनी है। जब भी मैं अपने कोचिंग करियर का समापन करूंगा उम्मीद है कि तब भी खुद को नौसिखिया कोच ही कहूंगा। मैं इन आलोचनाओं को अगले कुछ सप्ताह या महीनों तक शानदार उपहार के तौर पर लूंगा।”

इस पूर्व सलामी बल्लेबाज के अनुबंध में अभी 18 महीने का समय बचा है। उन्होंने कहा, ‘‘मेरी जिंदगी के सबसे अच्छे मेंटोर वे लोग हैं जो मुझसे सच्ची बात कहते हैं और मेरी आलोचना करने से नहीं हिचकिचाते हैं। मुझे हमेशा इस तरह की ईमानदार प्रतिक्रिया चाहिए। हो सकता है कि कभी मुझे यह अच्छा न लगे लेकिन यह उपयोगी होती है। ”(एजेंसी)