Farmers Suicide

अंजनगांव सुर्जी. व्यापारियों द्वारा दिए गए धोके व पुलिस की मारपीट से परेशान बड़े भाई के आत्महत्या किए जाने से सदमें में आए छोटे भाई संजय पांडूरंग भुयार (50) भी की भी भाई की अंतिम यात्रा के दौरान ही हार्ट अटैक आने से मौत हो गई. इस मामले अब राज्य मंत्री बच्चू कडू ने जांच समिति गठित करने का आश्वासन दिया है.

अंतिम यात्रा से लौटते समय आया अटैक

2 संतरा व्यापारियों द्वारा किसान अशोक भुयार के साथ धोखा किए जाने व पुलिस द्वारा उनकी शिकायत न लेते उन्ही की पीटाई किए जाने से उन्होंने मंगलवार को आत्महत्या कर ली. दिन भर फैले तनाव के बाद देर शाम को उनकी अंतिम यात्रा निकाली गई. इस पूरे घटना क्रम से उनके भाई संजय भुयार को गहरा सदमा लगा.  अंतिम यात्रा से लौटते समय रास्ते में  ही उसे हार्ड अटैक आया. और उसकी भी मौत हो गई. मंत्री बच्चू ने इस मुद्दे पर राजनीति न करने की सलाह देते हुए पूरे मामले की जांच के लिए जांच समिति गठित करने की बात कही है. वे गुरुवार को धनेगांव पहुंचेगें व मामले की दखल लेंगे. 

आरोपी अब भी फरार

मृतक अशोक भुयार ने सुसाईड नोट में व्यापारी शे. अमीन व शे. गफुर द्वारा संतरा बगीचे की राशि दिए बगैर रसीद पर उनके हस्ताक्षर किए जाने का आरोप लगाया था वे दूसरे दिन भी फरार रहे. पुलिस उनकी तलाश कर रही है. वहीं आरोपी पुलिस उपनिरीक्षक दीपक जाधव भी फरार है. 

बचाई जा सकती थी जान

संतरा उत्पादक किसान अशोक सुसाईड नोट में मुझसे न्याय की गुहार लगायी है. यदि अपनी परेशानी को लेकर पहले मेरे पास आता तो उसकी जान बचायी जा सकती थी. कुछ लोग इस मामले में भी राजनीति करने में लगे हैं यह अत्यंत घृणास्पद है. इस पूरे मामले की पूरी जांच करवायी जाएगी. इसके लिए एक समिति गठित करेंगे. मैं  किसानों के साथ हुं. -बच्चू कडू, राज्यमंत्री