In Maharashtra, 65 people died in just 9 months in wild animal attacks, 23 tigers died in 6 months, the state government said
File Photo

    चंद्रपुर. ताड़ोबा व्याघ्र प्रकल्प अंतर्गत किटाली, भटाली, पायली, तिरवंजा, चिंचोली ग्रामों में बाघों के मंडराने से ग्रामीणों में जबरदस्त दहशत छाई हुई है. आसपास के परिसर के लोग काफी डरे हुए हैं. पिछले एक सप्ताह भर में बाघ ने 3 से 4 मवेशियों का शिकार किया है.

    इससे ग्रामीणों में और डर निर्माण हो गया है. ग्रामीण अपने मवेशियों की रक्षा कैसे करे यह प्रश्न निर्माण हो गया है. बाघ के गांव के पास आकर शिकार कर रहे हैं. इससे बाघ की दहशत के कारण लोग घर के बाहर निकलने में डर रहे हैं.

    ग्रामों से सटकर कोयला खदान है, जहां बाघ घूमते हुए नजर आते हैं. शाम होते ही लोग घरों में दुबक जाते हैं. इससे लोगों के दैनिक दिनचर्या पर इसका असर हो रहा है. वन विभाग तुरंत इस पर उपाययोजना कर परिसर के बाघों का बंदोबस्त करें, उन्हें पिंजरे में कैद कर दूर छोड़ आने की मांग भटाली के लोगों ने की है.