Dilip Walse Patil
File Photo: ANI

    मुंबई: महाराष्ट्र के गृहमंत्री एवं राकांपा नेता दिलीप वलसे पाटिल (Maharashtra Home Minister Dilip Walse Patil) ने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) उनसे नाराज नहीं हैं। वलसे पाटिल ने कहा कि कुछ हलकों में दावा किया गया था कि भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस के इन आरोपों पर उनके (वलसे पाटिल के) जवाब से मुख्यमंत्री उनसे नाराज हैं कि महा विकास अघाड़ी (एमवीए) विपक्षी दल के कुछ नेताओं को फंसाने की साजिश रच रहा था। राकांपा प्रमुख शरद पवार (NCP Chief Sharad Pawar) से मुलाकात के बाद यहां पत्रकारों से बात करते हुए वलसे पाटिल ने कहा कि ठाकरे किसी मुद्दे पर उनसे नाराज नहीं हैं। 

    उन्होंने कहा कि इसके विपरीत ठाकरे ने उन्हें फोन किया और उन्हें (फडणवीस को उनके जवाब पर) बधाई दी। महाराष्ट्र विधानमंडल के हाल ही में समाप्त हुए बजट सत्र के दौरान, फडणवीस ने कहा था कि एमवीए उनके सहित कुछ भाजपा नेताओं को झूठे मामलों में फंसाने की साजिश रच रहा है। वलसे पाटिल ने मामले की आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) से जांच कराने की विधानसभा में घोषणा की थी। ठाकरे ने कथित तौर पर पिछले बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में इस मुद्दे पर अप्रसन्न्ता जतायी थी। 

    वलसे पाटिल ने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री किसी मुद्दे पर नाराज नहीं हैं। हर किसी का अपना अंदाज (अभिव्यक्ति का) होता है…मुख्यमंत्री नाराज नहीं हैं। बल्कि उन्होंने मुझे फोन किया और बधाई दी।” गृह मंत्री ने कहा कि पवार से मुलाकात के दौरान यह मुद्दा नहीं उठा। वलसे पाटिल ने भाजपा के इस आरोप को भी खारिज कर दिया कि भाजपा नेताओं को फंसाने के लिए आईपीएस अधिकारी संजय पांडेय को मुंबई पुलिस आयुक्त नियुक्त किया गया था। 

    उन्होंने कहा, ‘‘मैंने स्पष्ट रूप से कहा है कि बदला लेने के लिए किसी को भी नियुक्त नहीं किया गया है। आज की बैठक (पवार के साथ) में इस पर कोई चर्चा नहीं हुई।” वलसे पाटिल ने कहा कि उन्होंने बैठक के दौरान ‘‘कुछ सार्वजनिक मुद्दों” पर चर्चा की।