सतरंजीपुरा जोन का नाम हो गड्ढा जोन, सड़कों को लेकर मनपा के खिलाफ कांग्रेस का अनूठा आंदोलन

    नागपुर. विधायक विकास ठाकरे और अभिजित वंजारी के मार्गदर्शन में नागपुर शहर कांग्रेस कमेटी के महासचिव मनीष उमरेडकर व सचिव मनोज नौकरकर के नेतृत्व में सतरंजीपुरा जोन के तहत सड़कों पर हुए गड्ढों को लेकर महानगर पालिका के खिलाफ आंदोलन किया गया. इसके तहत मांग की गई कि सतरंजीपुरा जोन का नाम बदलकर गड्ढा जोन किया जाना चाहिए. उमरेडकर ने जोन के सहआयुक्त पंधरे को बताया कि प्रभाग 21 में लालगंज झोड़े चौक रोड से प्रतिभा हाईस्कूल तक गड्ढों का अंबार लगा  है.

    रात को दही बजार पुल से झाड़े चौक उतरते समय रोड पर गड्डे होने की वजह से लोगों की गाड़ी फिसल जाती है. इसी तरह, साईनगर दुर्गा मंदिर रोड पर भी गड्ढों की वजह से वाहन चालकों के साथ हादसे हो रहे हैं. प्रभाग में कई सीमेंट रोड की सीमेंट और गिट्टी उखड़ गई है. फुटपाथ पर लगे गट्टु उखड़ चुके हैं. जिस रोड को सिर्फ 2 वर्ष हुए हैं, वहां भी गड्ढों की वजह से किसी भी समय, किसी भी नागरिक के साथ दुर्घटना होती रहती है. 

    मुकदर्शक बनी मनपा

    उन्होंने कहा कि संतरजीपुरा जोन की सड़कों की खस्ता हालत की जिम्मेदार मनपा है. मनपा के अधिकारी मुकदर्शक बनकर देख रहे है. सड़कों की जवाबदेही मनपा की होनी चाहिए. ऐसा नहीं है कि प्रभाग में केवल सड़कों के गड्ढों की समस्या है. प्रभाग में कई कुएं हैं, जहां के वाटरपम्प खराब हो चुके हैं. यहां का पानी दूषित हो चुका है. पंधरे से कहा गया कि मनपा प्रशासन ने इस ओर ध्यान देना चाहिए ताकि नागरिक दूषित पानी पीने को मजबूर न हो.

    इस ओर ध्यान नहीं दिया गया तो कांग्रेस कमेटी की ओर से तीव्र आंदोलन करने की चेतावनी दी गई. इस दौरान उपाध्यक्ष निर्मला बोरकर, अर्चना सिडाम, चंद्रकांत राऊत, सतीश जवने, राजेश खानोरकर, अनिल बारापात्रे, संजय भुते, बरकत, सुभाष मलिक, विनोद अफरेल, विजय बोरकर, गोपाल खानवानी, शुभम डेकाटे, अविनाश निनावे, कृष्णा उमरेडकर, मुकेश पौनीकर, अशोक पराते समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित रहे.