Uttar Pradesh Police got a big success in the murder of Kho-Kho player in Bijnor, one arrested
File Photo

    पिंपरी. पिछले कुछ दिन से पिंपरी चिंचवड़ (Pimpri Chinchwad) की औद्योगिक नगरी (Industrial City) में हत्याओं (Murders) की श्रृंखला बरकरार है, जिसमें एक और वारदात जुड़ गई है। भोसरी (Bhosari) की धावड़े बस्ती में एक विधवा महिला के घर में घुस कर उसकी निर्ममता से हत्या (Brutal Murder) किए जाने की वारदात शनिवार की रात सवा नौ बजे के करीब उजागर हुई है। पिछले 10 दिनों में हत्या की यह 8वीं वारदात हैं जिसमें चार महिलाओं को मौत के घाट उतारा गया है। इससे महिलाओं में असुरक्षितता का माहौल व्याप्त है।

    स्थानीय पुलिस से मिली प्राथमिक जानकारी के अनुसार, शनिवार की वारदात में मरनेवाली महिला का नाम कलावती धोंडीबा सुरवार (38) है। पुलिस ने बताया कि, कलावती के पति का कुछ साल पहले देहांत हो गया है। फरवरी 2021 से वह अपने बच्चे के साथ भोसरी को धावड़े बस्ती में रह रही थी। बीती रात साढ़े आठ बजे के करीब किसी अज्ञात व्यक्ति ने उसके घर में घुसकर तेजधार हथियार से उसकी निर्मम हत्या कर दी गई। करीबन सवा नौ बजे यह वारदात सामने आने के बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची और छानबीन शुरू कर दी। 

    आठ लोगों की हत्याएं हुई हैं

    इस वारदात को लेकर भोसरी पुलिस थाने में देर रात तक मामला दर्ज करने का काम जारी रहा। हत्या की वजह और हत्यारे के बारे में अब तक कोई ठोस जानकारी नहीं मिल सकी है। इस घटना से समस्त भोसरी परिसर में खलबली मच गई है। बहरहाल भोसरी थाने की सीमा में इस माह में हुई हत्या की यह दूसरी वारदात है। 2 सितंबर को दापोड़ी की एक इमारत के सामने एक केयर टेकर की हत्या की वारदात सामने आई थी। इसके बाद दूसरी वारदात भोसरी की धावड़े बस्ती में कल रात हुई है। गौरतलब है कि, पिंपरी चिंचवड शहर में पिछले 10 दिनों से हत्याओं की श्रृंखला कायम है। इन 10 दिनों में 4 महिलाओं के साथ आठ लोगों की हत्याएं हुई हैं।

    ठोस कदम उठाने की मांग

    महिलाओं की हत्या और महिला अत्याचार की बढ़ती वारदातों पर गहरी चिंता जताई जा रही है। हालिया महापौर ऊषा ढोरे के नेतृत्व में महिला जनप्रतिनिधियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने पुलिस कमिश्नर कृष्ण प्रकाश से मुलाकात कर ऐसी वारदातों को रोकने के लिए ठोस कदम उठाने की मांग की है। 

    16 सितंबर को रावेत में चोरी की घटना में प्रतिकार करते वक्त सौंदव सोमरु उराव नामक महिला सुरक्षा रक्षक की हत्या की गई। 20 सितंबर को घोरावडेश्वर में एक 19 वर्षीय नवविवाहित महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म कर उसकी निर्मम हत्या की गई। इसी दिन निगड़ी ओटा स्किम में संपत गायकवाड़ नामक व्यक्ति की हत्या की गई। यह हत्या पुराने झगड़े में की गई सुलह की नाराजगी में की गई। इसके दूसरे दिन चिखली में वीरेंद्र उमरगी नामक व्यक्ति की हत्या की गई। इसी दिन हिंजवड़ी में पत्नी को लेकर अश्लील कमेंट्स करने को लेकर एक सुरक्षा रक्षक ने दूसरे सुरक्षा रक्षक की गला घोंटकर हत्या कर दी। 22 सितंबर को रावेत में खैरून बी नामक महिला की उसी के घर में नाड़े से गला घोंटकर हत्या कर दी गई। इस वारदात के बाद से अपने तीन बच्चों को छोड़कर पति फरार है। 23 सितंबर की सुबह थेरगांव के डांगे चौक में रोशन कांबले नामक युवक की हत्या की गई।