bjp

    नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) के मद्देनजर सूबे का सियासी पारा गरमाया हुआ है। विपक्ष लगातार बीजेपी (BJP) पर हमलावर है।  इन सब के बीच बुंदेलखंड (Bundelkhand) में क्या बीजेपी (BJP) फिर क्लीन स्वीप करेगी यह सबसे बड़ा सवाल है।  वैसे महोबा से पीएम मोदी (PM Modi) का पुराना रिश्ता है। उन्होंने पिछले चुनाव से ठीक पहले साल 2016 में यहां एक परिवर्तन रैली की थी। जिसका फायदा बीजेपी को मिला था। पार्टी ने साल 2017 के चुनाव में बुंदेलखंड की सभी 19 सीटों पर जीत का परचम लहराया था। हालांकि इस बार हालात थोड़े बदल गए हैं।  

    ज्ञात हो कि यूपी विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर बीजेपी, समाजवादी पार्टी, कांग्रेस और बसपा सहित तमाम पार्टियों ने अपनी पूरी ताकत लगा दी है। बुंदेलखंड में समाजवादी पार्टी जहां सत्ता में वापसी लौटने की कोशिश में है। वहीं कांग्रेस पार्टी प्रियंका गांधी वाड्रा के दम पर यहां पुनर्जीवित होने की कवायद में जुटी है। जबकि बीजेपी यहां सत्ता बचाने के लिए मैदान में है। 

    गौर हो कि भाजपा ने साल 2014 के चुनाव एम् यहां तगड़ी वापसी की है। फिर विधानसभा चुनाव 2017 और लोकसभा चुनाव 2019 में भी बीजेपी ने यहां जीत दर्ज की है। बुंदेलखंड में गैर-यादव ओबीसी और गैर-जातव दलितों की बड़ी आबादी है। इन लोगों ने चुनावों में भाजपा को वोट दिया था। बुंदेलखंड में योगी सरकार की तरफ से कई परियोजनाएं चलाई जा रही हैं। बुंदेलखंड में पिछले चार सालों के भीतर एक्सप्रेस वे, हर घर नल योजना, डिफेंस कॉरिडोर जैसे कई कार्यक्रम योगी सरकार ने चलाए हैं। 

    वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा लगातार बुंदेलखंड का दौरा कर रही हैं। हाल ही में प्रियंका ने यहां किसानों से मुलाकात की थी। चित्रकूट बुंदेलखंड का सबसे अहम जिला है। यहां की दोनों विधानसभा सीटों पर 1989 के बाद से कांग्रेस पार्टी का खाता नहीं खुल सका है। वैसे बीजेपी के गढ़ बुंदेलखंड में किसी अन्य दल का जीतना थोड़ा कठिन नजर आ रहा है। हालांकि सच्चाई यह भी है कि चुनाव में अंतिम समय में जनता किसे वोट दे दे यह कोई नहीं जानता है।