Amazon's customer base has increased in small and medium cities: Bhasin

    नयी दिल्ली. अमेजन को कथित तौर पर भारतीय ध्वज का अपमान करने के लिए सोमवार को भारतीय सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं के एक वर्ग की नाराजगी का सामना करना पड़ा। अमेजन को परिधान और खाद्य पदार्थों सहित कुछ उत्पादों, जिसमें भारतीय ध्वज की तस्वीरें लगी हैं, की बिक्री को लेकर भारतीय सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं के एक वर्ग की आलोचना का सामना करना पड़ा। इनमें से कुछ ने कहा कि इस तरह से तिरंगे का इस्तेमाल करना देश के ध्वज संहिता का अपमान और उल्लंघन है।

    सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं ने अमेजन की वेबसाइट पर परिधान, कप, चाबी का गुच्छा और चॉकलेट जैसी वस्तुओं की तस्वीरें साझा कीं, जिनमें तिरंगे की तस्वीरें या छाप हैं और इन वस्तुओं पर प्रतिबंध लगाने की मांग की।

    अमेजन ने इस संबंध में प्रतिक्रिया लेने के लिए ईमेल प्रश्नों का जवाब नहीं दिया है। कुछ सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं ने कहा कि उत्पादों पर तिरंगे का उपयोग करना भारतीय ध्वज संहिता, 2002 के विरुद्ध है। सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं के एक वर्ग ने कहा कि इस तरह का उपयोग राष्ट्रीय ध्वज का अपमान है, जबकि अन्य ने कहा कि यह बिक्री बढ़ाने का एक सस्ता तरीका था और इससे भारतीय नागरिकों की देशभक्ति नहीं बढ़ेगी।

    संहिता के अनुसार, ‘‘ध्वज का उपयोग किसी भी प्रकार की पोशाक या वर्दी के हिस्से के रूप में नहीं किया जाएगा। इसे तकिये, रूमाल, नैपकिन या बक्से पर मुद्रित नहीं किया जाएगा।”

    गौरतलब है कि ऐसा पहली बार नहीं है जब अमेजन को इस तरह की नाराजगी का सामना करना पड़ रहा है। 2017 में, अमेजन को भारत के कड़े विरोध के बाद अपनी कनाडाई वेबसाइट पर सूचीबद्ध भारतीय ध्वज वाले ‘डोरमैट’ को हटाना पड़ा था। (एजेंसी)