State will start 'Padhai Tunhar Para' scheme for all children: Baghel

    रायपुर. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Chhattisgarh Chief Minister Bhupesh Baghel) ने 10वीं और 12वीं की परीक्षा में राज्य में शीर्ष 10 स्थान और जिले में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को हेलीकॉप्टर (Helicopter Ride) में घुमाने की घोषणा की है। राज्य के जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यहां बताया कि मुख्यमंत्री बघेल ने बृहस्पतिवार को बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के राजपुर गांव में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षा में राज्य में शीर्ष 10 में शामिल विद्यार्थियों और जिलों में प्रथम स्थाान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को हेलीकॉप्टर की सवारी कराने की घोषणा की।

    अधिकारियों ने बताया कि संवाददाता सम्मेलन में बघेल ने कहा कि बच्चों को शिक्षा के क्षेत्र में प्रोत्साहित करने के लिए 10वीं और 12वीं की परीक्षा में राज्य में प्रथम 10 स्थान और जिले में प्रथम प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को हेलीकॉप्टर की सवारी कराएंगे, जिससे अन्य छात्र-छात्राएं भी प्रोत्साहित हों।

    मुख्यमंत्री ने इस दौरान कहा कि चार मई को उन्होंने सामरी विधानसभा क्षेत्र के भ्रमण के दौरान तीन आत्मानंद इंग्लिश माध्यम स्कूलों का भी निरीक्षण किया था। इन स्कूलों में विद्यार्थियों से बात करके उन्हें लगा कि विद्यार्थियों में बहुत प्रतिभा है, आवश्यकता है तो सिर्फ उन्हें मजबूत प्रेरणा देने की।

    बघेल ने कहा, “बहुत जल्दी दसवीं और बारहवीं कक्षाओं के परिणाम घोषित होने वाले हैं। मुझे पूरा विश्वास है कि अगर हमारे विद्यार्थियों को कोई अनूठी प्रेरणा मिलेगी, कोई अनूठा प्रतिफल निर्धारित होगा तो उनमें सफलता अर्जित करने की अभिप्रेरणा का स्तर और भी बढ़ जाएगा।”

    मुख्यमंत्री ने कहा कि जब वह हेलीकॉप्टर से आए, तो देखा कि बहुत से बच्चे और परिपक्व उम्र के लोग भी हेलीकॉप्टर देखकर बहुत उत्साहित और कौतूहल में थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि हेलीकॉप्टर के प्रति लोगों के आकर्षण को देखकर उन्होंने छात्रों को हेलीकॉप्टर से घुमाने का निर्णय लिया। मुख्यमंत्री ने कहा है कि कक्षा दसवीं और बारहवीं में प्रदेश के शीर्ष 10 विद्यार्थियों के साथ-साथ जिलों में प्रथम स्थान लाने वाले 10वीं और 12वीं के विद्यार्थियों को रायपुर आमंत्रित करके उनका सम्मान किया जाए तथा उन्हें हेलीकॉप्टर की सवारी कराई जाए।

    उन्होंने कहा, “हवाई यात्रा करना एक ऐसी इच्छा है जो छोटे बच्चे से लेकर बड़े-बूढ़ों तक में विद्यमान रहती है। मुझे विश्वास है कि हेलीकॉप्टर की सवारी करने से बच्चों के मन में जीवन के आसमान में भी ऊंची उड़ान भरने की आकांक्षा जागेगी और वे अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अपनी प्रतिभा को और प्रखर बनाएंगे।”

    अधिकारियों ने बताया कि इस दौरान मुख्यमंत्री ने राज्य में गोबर खरीदी के बाद अब गोमूत्र की खरीद प्रारंभ करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि गोमूत्र से दवाइयां बनाई जाएंगी, इससे महिलाओं और ग्रामीणों को आय का एक और जरिया मिलेगा। (एजेंसी)