इस साल अकोला में बाढ़ से 15 की मौत – बिजली गिरने से 2 की मौत

  • रिश्तेदारों को 68 लाख रुपए की सरकारी सहायता

अकोला. इस साल बारिश की शुरुआत से ही याने जून माह से जिले में विविध स्थानों पर हुई बाढ़ की घटनाओं में करीब 15 लोगों की मौत होकर बिजली गिरने से 2 की मौत होने का दर्ज जिलाधिकारी कार्यालय के प्राकृतिक आपदा निवारण कक्ष में किया गया है. इस दौरान बाढ़ और बिजली गिरने से मौत होनेवालों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर उनके रिश्तेदारों को सरकार की ओर से प्रत्येक 4 लाख रुपए इस तरह से 68 लाख रुपयों की सहायता देने की जानकारी इस कक्ष द्वारा दी गई है.

जिले में बारिश की शुरुआत के समय में धीमी गति से बरसी बरसात ने बाद में जिले के कुछ भागों में तेज बारिश हुई. जिससे ग्रामीण भागों के नालों, नदी को बाढ़ आई. इस बाढ़ में 6 जून से अक्टूबर 2020 इन 5 माह के समय में करीब 15 लोग बाढ़ में बह जाने की घटना घटने का दर्ज जिलाधिकारी कार्यालय के प्राकृतिक आपदा निवारण कक्ष में की गई है. बिजली गिरने से मौत होनेवाले दोनों पातुर तहसील के ग्राम गावंडगांव निवासी अनोखी राठोड और ग्राम सावरगांव निवासी रामभाऊ डवले का उसमें समावेश है.

इस दौरान बाढ़ में बहकर जानेवालों में अकोट तहसील के 5 का समावेश होकर जिसमें ग्राम वडाली देशमुख निवासी संगीता वाढोकार, ग्राम नेव्होरी बु. रविकुमार वसू, देऊलगांव नीतेश अंभोरे, बड़ा बारगण श्रावण वाकोडे और आसेगांव बाजार निवासी राम झापर्डे के नाम दर्ज है. अकोला तहसील के ग्राम चांगेफल निवासी आयुष इंगले और फरामदाबाद विनोद गोपनारायण का बाढ़ में बहकर जानेवालों में समावेश है. 

बालापुर तहसील के सर्वाधिक 6 लोग

बाढ़ में बहकर जानेवालों में बालापुर तहसील के सर्वाधिक 6 लोगों का समावेश होकर ग्राम अंदुरा निवासी ज्ञानेश्वर गोरे, शुद्धोधन डिगे, अरूण बोबडे और विलास तायडे, मनारखेड के देवानंद नरवाले और नागद सागद के निशांत मोरडे के नाम दर्ज है. मूर्तिजापुर तहसील के ग्राम येंडली निवासी बाबाराव इंगले भी बाढ़ में बहकर गए है. इन सभी मृतकों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट प्राप्त होने पर उनके परिवार के व्यक्ति को 4 लाख रू. के अनुसार कुल 68 लाख रू. की आर्थिक सहायता देने का सूत्रों ने बताया है.