The accused arrested in the Elgar Parishad-Maoist link case started hunger strike in jail
File

मादक पदार्थ की तस्करी के मामले में किया गया था गिरफ्तार

4 महीने के दौरान तीसरी घटना

नवी मुंबई. तलोजा जेल के क्वारेंटीन सेंटर में एक कैदी ने खुद को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. इस कैदी को डीआरआई ने मादक पदार्थ की तस्करी के मामले में गिरफ्तार किया था. इस मामले को खारघर पुलिस स्टेशन में अकस्मात घटना के तौर पर दर्ज किया गया है. कैदी ने आत्महत्या किस वजह से की इसके बारे में पुलिस छानबीन कर रही है.

पुलिस के मिली जानकारी के अनुसार उरण स्थित जेएनपीटी बंदरगाह में अफगानिस्तान से आए एक कंटेनर से कस्टम व डीआरआई विभाग ने 191 किलो हेरोइन 9 अगस्त 2020 को जब्त किया है. इस मामले में डीआरआई ने नवी मुंबई के नेरुल में रहने वाले मीनानाथ घोड़के व ठाणे के मुंब्रा में रहने वाले कोड़ेभाऊ गुंजाल को गिरफ्तार किया गया है. जिनसे मिली जानकारी के आधार पर डीआरआई में मोहंमद नुमान मोहंमद सुलेमान (43) गिरफ्तार कर के 19 अगस्त को पनवेल कोर्ट में पेश किया था. जिसे कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में रखनें के लिए तलोजा जेल में भेजा था.

क्वारेंटीन सेंटर में रखा गया था आरोपी 

गौरतलब है कि कोरोना के संक्रमण की रोकथाम करने के उद्देश्य से तलोजा जेल में नए कैदियों को नहीं रखा जाता है. नए कैदियों के लिए जेल प्रशासन ने खारघर के सेक्टर-12 स्थित गोखले स्कूल में क्वारेंटीन सेंटर बनाया है.इसी सेंटर में सुलेमान को भी रखा गया था.जहां के शौचालय की खिड़की में लगी लोहे की रॉड में टॉवल को बांधकर सुलेमान ने खुद को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. बतादें कि इसके पहले इस जेल में 27 मई 2020 को बालू गड़सिंग व 29 जुलाई 2020 को दिनेश नारकर नामक कैदी ने खुद को फांसी लगाकर आत्महत्या की थी.