Mhada

    औरंगाबाद: म्हाडा के औरंगाबाद मंडल द्वारा जल्द ही 828 फ्लैट, प्लॉट के लिए विज्ञापन (Advertisement ) जारी किया जाएगा। इस ड्रा में भाग लेने के लिए या महाराष्ट्र आवास और क्षेत्र विकास प्राधिकरण  (MHADA) के तहत लागू विभिन्न आवास योजनाओं के लिए नई एकीकृत लॉटरी प्रणाली 2.0 (एचएलएमएस 20.) को अद्यतन किया गया है। इसमें ड्रॉ से पहले आवेदक के दस्तावेजों का सत्यापन किया जाएगा। ड्रा में पात्र आवेदक ही भाग ले सकेंगे।

    सिस्टम विभिन्न सरकारी डेटाबेस से जुड़ा हुआ है, जिसमें आधार कार्ड, पैन कार्ड, डोमिसाइल सर्टिफिकेट, इनकम सर्टिफिकेट (इनकम टैक्स रिटर्न सर्टिफिकेट (आईटीआर) वर्ष 2021-2022 या तहसीलदार द्वारा जारी आय प्रमाण, जाति प्रमाण पत्र आदि का एपीआई का इस्तेमाल कर आवेदन कर्ता के दस्तावेजों की जांच सिस्टीम जमा करनी होती थी। इसमें दस्तावेज और प्रतिज्ञापत्र की संख्या कम 7 की गई है।  सभी आवेदकों को ड्रा में अपना नाम दर्ज करने के लिए अपने आधार कार्ड के साथ अपने अपडेट किए गए मोबाइल नंबर को लिंक करना होगा। आवेदकों को यहां जाना होगा। Google Play Store या Apple स्टोर से म्हाडा HLMS 2.0 मोबाइल एप डाउनलोड करें या वेबसाइट https://housing.mhada.gov.in पर जाएं। सफलतापूर्वक पंजीकरण करने के लिए, आवेदक को अपने दस्तावेजों को सत्यापित करना होगा। सफल सत्यापन के बाद, आवेदक का प्रोफाइल बनाया जाएगा और आवेदकों को स्व-घोषणा पत्र पर ई-हस्ताक्षर करना होगा।

    ऑनलाइन ड्रा निकाला जाएगा

    पंजीकरण प्रक्रिया के सफल समापन के बाद योग्य आवेदक म्हाडा के मंडल निहाय ड्रा योजना को चयन कर आवेदन कर सकते। आवेदन प्रक्रिया को पूरा करने के लिए आवेदक को जमा राशि और आवेदन शुल्क का भुगतान करना होगा। आवेदक नेटबैंकिंग, डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, यूपीआई जैसे विभिन्न विकल्पों का उपयोग करके राशि का भुगतान कर सकते हैं। जिन आवेदकों ने सफलतापूर्वक सभी चरणों को  पूरा करने के बाद  आवेदन कर्ता  के आवेदन का ऑनलाइन ड्रा निकाला जाएगा।  जैसा कि इस ऐप का उपयोग पोस्ट-आवंटन प्रक्रियाओं जैसे कि देकारपत्र, बंधक छूट प्रमाण पत्र, साक्षात्कार की नियुक्ति, आवंटन पत्र, गृह बंधक भुगतान आदि के लिए किया जाता है, आवंटन प्रक्रिया पूरी तरह से  मानवी हस्तक्षेप के बिना की गई है। फ्लैट के लिए आवेदन करने से लेकर उसे कब्जा मिलने तक  की संपूर्ण प्रक्रिया ऑनलाइन हुई है। यह जानकारी औरंगाबाद गृहनिर्माण और क्षेत्र विकास मंडल के डिप्टी सीईओ ने दी है।