ODOP Showroom

    -राजेश मिश्र

    लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हस्तशिल्पियों, कारीगरों और छोटे उद्यमियों के विशिष्ट उत्पाद अब देश के महानगरों में बिकेंगे। उत्तर प्रदेश सरकार जल्दी ही देश के चार बड़े शहरों दिल्ली (Delhi), मुंबई (Mumbai), कोलकाता (Kolkata) और अहमदाबाद (Ahmedabad) में अपनी महत्वाकांक्षी परियोजना एक जिला एक उत्पाद (ODOP) के तहत चयनित सामान बेंचेगी। इन चारों शहरों में ब़ड़े व्यापारिक क्षेत्रों में ओडीओपी के शोरूम खोले जाएंगे। इन सभी शहरों में पहले से चल रहे निर्यात निगम के गंगोत्री नाम के शोरुमों का नवीनीकरण कर उन्हें नयी साजसज्जा के साथ ओडीओपी उत्पादों की बिक्री के लिए उपयोग किया जाएगा।

    प्रदेश सरकार इन चारों शहरों के साथ ही गुजरात के नर्मदा तट पर स्थित स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के परिसर में भी ओडीओपी उत्पादों की बिक्री का प्रबंध किया जाएगा। देश के प्रमुख रेलवे स्टेशनों और हवाई अड्डों पर ओडीओपी के विशेष स्टाल लगाने का फैसला पहले ही लिया जा चुका है। हाल ही में प्रदेश सरकार ने केंद्र के अनुरोध पर स्विटजरलैंड के दावोस शहर में होने वाले वर्ल्ड इकोनामिक फोरम की बैठक में भाग लेने वाले सभी देशों के प्रतिनिधियों को ओडीओपी के खास सामानों का उपहार भेजा है। प्रदेश सरकार ने दावोस में विदेश प्रतिनिधियों को देने के लिए ओडीओपी उत्पादों के 600 गिफ्ट हैंपर भेजे हैं।

    दिल्ली में चल रहा शोरुम बनाने का काम

    प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग के अपर मुख्य सचिव डा. नवनीत सहगल के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के कनाट प्लेट में 4000 वर्गफीट से बड़े स्थान पर शोरूम बनाने का काम चल रहा है। आर्थिक राजधानी मुंबई के नवी मुंबई स्थित उत्तर प्रदेश भवन में 1000 वर्ग फीट में, कोलकाता के गरिया हाट स्थित दक्षिणायन शॉपिंग कॉम्पलेक्स में और अहमदाबाद के अंबाबादी में 3000 वर्गफीट में ओडीओपी के शोरूम खुलेंगे। इन शोरुमों की साजसज्जा नए ढंग से कर इन्हें और भी आकर्षक बनाया जाएगा।

    100 से अधिक उत्पादों को खरीदने का विकल्प 

    उन्होंने बताया है कि प्रदेश सरकार के पास इन सभी शहरों के बीचो-बीच जगह उपलब्ध है। इन स्थानों पर अभी गंगोत्री शोरूम संचालित किए जा रहे हैं। सरकार इनका नवीनीकरण कराकर ओडीओपी उत्पादों को बिक्री के लिए रखेगी। इन शोरूम में पहुंचने वालों के सामने 100 से अधिक उत्पादों को खरीदने का विकल्प रहेगा। इन शोरुमों में लखनऊ की चिकनकारी, बरेली की जरी-जरदोजी, बनारस का सिल्क, आजमगढ़ की ब्लैक पाटरी, मुजफ्फरनगर का गुड़, बच्चों के लिए झांसी के खिलौने, कन्नौज का विश्व प्रसिद्ध इत्र, बनारस की रेशमी साड़ियां, लखनऊ के चिकन के कपड़े, मुरादाबाद के पीतल के उत्पाद, हाथरस की खुशबूदार हींग आदि बिक्री के लिए रखे जाएंगे।