स्तरहीन फिल्म में काम नहीं करना चाहती हैं श्वेता
मुंबई. फिल्म 'मसान' में अपने प्रदर्शन से आलोचकों की नजरों में आने वाली अभिनेत्री श्वेता त्रिपाठी का कहना है कि वह 'स्तरहीन' सिनेमा से दूर रहना चाहती हैं जहां पर लोगों को एक वस्तु के रुप में देखा जाता है. नीरज घेवान की 2015 में आयी फिल्म में श्वेता ने ऊंची जाति की एक लड़की की भूमिका निभायी थी जो दलित युवक विक्की कौशल से प्रेम करती दिखती हैं. अभिनेत्री को जोया अख्तर की ऐसी व्यावसायिक फिल्में पसंद हैं जो आपकी बुद्धिमता को चुनौती नहीं देती हों, लेकिन उन्हें स्तरहीन फिल्में पसंद नहीं है. श्वेता ने बताया कि मैं ऐसी फिल्में नहीं देखती जिनको लेकर लोग कहें कि अपना दिमाग घर छोड़ कर आओ और फिल्म देखो. क्या ऐसा भी है? मैं कभी भी ऐसे रुप में व्यवहार किया जाना पसंद नहीं करुंगी, जिसमें मुझे एक वस्तु के रुप में देखा जाए. यह बात मैं बहुत यकीन के साथ कह सकती हूं. उन्होंने कहा कि अगर मैं कुछ ऐसा कर रही हूं जिसकी कहानी अलग हो तब मैं वह करुंगी. लेकिन इसलिए नहीं कि मैं खास तरह के कपड़े पहन रही हूं और कुछ नहीं कर रही हूं. राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्म 'मसान' में काम करने से पहले श्वेता ने शार्ट फिल्म 'सुजाता' में काम किया था जो पांच लघु फिल्मों 'शॉटर्स' के संकलन में से एक था.