उत्तराखंड के इस मंदिर में शिव-पार्वती ने रचाया था विवाह, सदियों से जल रहा अग्नि कुंड

Loading...